एडवेंचर ऑफ़ करुण नायर – रहस्य ब्लादिमीर का

कहानी की पृष्ठभूमि

किताब के बारे में 

जैसा की पहले भागो में जाना की कैसे करुण नायर और सुजान चटर्जी ने नौ अज्ञात पुरुषो की योजना को विफल कर दिया था

जिसकी वजह से नौ अज्ञात पुरुष ब्लादिमीर से मिलकर उसकी पत्नी मरियम को ठीक करने के बदले करुण नायर का खात्मा करने की मांग करते है

और ब्लादिमीर अपने महल जो की अंटार्कटिका से अपने हेलीकॉप्टर से भारत में करुण के लिए रवाना हो जाता है।

लेकिन ब्लादिमीर को पता नहीं चलता की माया उसके हेलीकॉप्टर में छुपकर उसके साथ भारत पहुँच  जाती है

और पहले ही करुण से मिलकर उसको ब्लादिमीर के बारे में आगाह करती है

अब कहानी इससे आगे…. 

करुण एक प्राइवेट डिटेक्टिव है जो की 1972 से अस्तित्व में आया और अपने पार्टनर सुजान चटर्जी के साथ मिलकर भी कई रहस्य्मयी केस सुलझाए जैसे की बेजुबान जानवर का रहस्य, छुपे हुए खतो का रहस्य, राही बंगले की घाटी का रहस्य और नील मणि की चोरी का रहस्य आदि उसके बाद करुण के पास केस आता है रहस्य भरतपुर, इससे जुड़े हुए एक केस जंहा से इस कहानी की पूरी शृंखला की शुरुआत होती है। 

करुण नायर का किरदार लोगो में आपराधिक सोच को खत्म करने के लिए प्रेरित करती है

साथ ही ये एक ऐसा किरदार है जो चाय पीने का शौकीन है,

कुश्ती और फ्री स्टाइल फाइटिंग भी करता है,

लम्बा कोट पहनता है और एक छड़ी और एक बंदूक अक्सर अपने साथ रखता है। 

लेखक की कलम से 

मेरा नाम पवन सिंह सिकरवार है और ये करुण नायर के उपन्यासो का चौथा स्तम्भ है या यूँ कहु की चौथा भाग है।

jasoosi short stories in hindi

अब तक इसका पहला भाग एडवेंचर ऑफ़ करुण नायर – रहस्य भरतपुर का, एडवेंचर ऑफ़ करुण नायर – नौ अज्ञात पुरुषो का और तीसरा ब्लादिमीर एक शैतान है के बाद पेश है उपन्यास एडवेंचर ऑफ़ करुण नायर – रहस्य ब्लादिमीर का। मुझे आशा है की आप इसको भी उतना भी प्यार देंगे जितना आपने इसके अन्य भागो को दिया। 

करुण नायर और मेरा रिश्ता क्या है?

एक लेखक और उसके किरदार के रूप में?

लेकिन मै ऐसा नहीं मानूंगा कई बार कुछ रिश्ते काल्पनिक होकर भी सत्य से जुड़े होते है।

करुण नायर सिर्फ डिटेक्टिव नहीं है वह एक ऐसी सोच है जिसे मै स्वतंत्र रूप से कभी नहीं लिख पाया। 

एक लेखक की कामयाबी यही है की लोग उसके किरदार को जीवित मान ले

लेकिन मेरी सच्चाई एक बीमारी से शुरू हुई और आज इसी बीमारी ने मुझे एक लेखक बना दिया। 

कई बार जिसे हम श्राप समझते है वो हमारे लिए वरदान साबित हो जाता है।

करुण कई बार मुझे ऐसी बातो से रूबरू कराता है जिनका मेरी जिंदगी से ही नहीं बल्कि कई जिंदगियों से रिश्ता होता है।

करुण इस समाज का वो आइना है जो समाज में आपराधिक सोच को उजागर करती है।

ये आपराधिक सोच व्यक्तिगत भी होती है और सामाजिक रूप में भी। 

jasoosi short stories in hindi

6 Replies to “एडवेंचर ऑफ़ करुण नायर – रहस्य ब्लादिमीर का”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *