एलियन मोर की लाइटहाउस मिस्ट्री – INDIAN PAPER INK

जहाँ आज भी हवा में गायब हुए तीन आदमियों का नाम गूँजता है!

old Light house by the sea on vacation

एलियन मोर नामक लाइटहॉउस  निर्जन होने के बाद भी हमेशा लोगों की जिज्ञासा का केंद्र रहा है।

इसका नाम 6 वीं शताब्दी के  संत फ्लान्नें के नाम पर रखा गया था,

उन्होंने यहाँ एक पूजा घर बनवाया था।

यहाँ पर चरवाहे अपनी भेड़ों को चराने आते थे लेकिन रात को नहीं रुकते थे,

उनका मानना था कि यहाँ किसी आत्मा का साया है।

26 दिसम्बर 1900 को एक छोटा जहाज फ्लेनन् आइलैंड के एलियन मोर नामक लाइटहॉउस की तरफ बढ़ रहा था। 

जेम्स  हार्वे उस जहाज के कप्तान थे जो जोसफ मूरे को लाइटहॉउस पर रखवाले का काम सौंपने के लिए लेकर जा रहे थे।

जब जहाज अपनी मंजिल पर पहुँचा तो कप्तान हार्वे हैरान थे कि कोई भी वहाँ उनका इंतज़ार नहीं कर रहा था।

उन्होंने जोर से हॉर्न बजाया लेकिन कोई जवाब नहीं आया।

जोसफ मूरे की जानकारी के अनुसार पुराने लाइटहॉउस का काम करने वाले को छत के ऊपर होना चाहिए।

लाइटहॉउस में दरवाज़ा खुला पड़ा था और एक गर्म कोट लटका हुआ था।

मूरे रसोई में गया तो उसे लगा जैसे कोई खाना बीच में ही छोड़ कर भाग गया है,

एक कुर्सी उलटी पड़ी थी,

जैसे अभी अभी गिरी हो और साथ ही रसोई की घडी की आवाज़ जो बाहर से सुनाई दे रही थी लेकिन अंदर घडी बंद पड़ी थी।

मूरे काफी देर तक पुरे लाइटहॉउस में ढूँढता रहा

लेकिन उसे कोई नहीं मिला तो उसने बाहर आकर कप्तान को सुचना दी।

कप्तान ने आदमी गुम हो जाने की सुचना हैडक्वाटर को दी ,जिसका जल्द ही जवाब भी आ गया।

“फ़्लैनन्स में एक अजीब हादसे में तीनो लाइटहॉउस के रखवाले डच ,

मार्शल और एक और इंसान आइलैंड से गायब हो गए हैं।

कल दोपहर से वहाँ कोई नज़र नहीं आया।

आग के गोले दागे गए लेकिन कोई जवाब नहीं आया,

eilean mor lighthouse mystery

मूरे की रिपोर्ट से पता चलता है कि ये हादसा एक हफ्ता पहले हुआ है ,

वो शायद किसी तूफान का शिकार हुए होंगे।

अब रात को उजाला करने के लिए मूरे,

मैक्डोनल और दो और आदमियों को रखा जा रहा है,

आप उस जगह पर बने रहें और कोई परेशानी होने पर मुझसे संपर्क करें”

कुछ दिनों बाद रोबर्ट मुरिहेड और दो आदमी जाँच करने लाइटहॉउस पहुँचे लेकिन उन्हें  तीनो रखवालो के गायब होने का कोई ठोस सबूत नहीं मिला और उन्होंने मूरे की बात को सही मान कर रिपोर्ट तैयार की।

मूरे को लाइटहॉउस से कुछ खत भी मिले थे वो भी उसने रोबर्ट को सौंप दिए।

एक खत में मार्शल ने लिखा था कि वो 12 दिसम्बर को आये तूफ़ान से डरे हुए थे

और ईश्वर से प्रार्थना कर रहे थे

कि ये तूफ़ान और ना बढ़े लेकिन तूफ़ान बढ़ता जा रहा है। 

रोबर्ट और मुरे सोच रहे थे कि लाइटहॉउस तो इतनी ऊँचाई पर है

फिर उन्हें तूफ़ान से डर क्यों था

और दिसंबर की इतनी ठण्ड में एक आदमी अपना कोट क्यों छोड़ गया।

जाँच से ये भी पता चला के 12 -13 दिसम्बर को कोई तूफ़ान नहीं आया था और सबसे बड़ी बात नियम के हिसाब से तीनो एक साथ यहाँ से नहीं जा सकते थे

किसी न किसी को तो लाइटहॉउस पर रुकना चाहिए था ,

फिर ऐसा क्या हुआ कि तीनो अचानक लाइटहॉउस छोड़कर चले गए।

रोबर्ट ने रिपोर्ट तो तैयार कर ली लेकिन उन तीनो के गायब होने के बारे में कुछ पता नहीं चल सका।

कई सालो तक लाइटहॉउस से अजीब-अजीब आवाज़ आने की रिपोर्ट आती रही ,

हवा के साथ उन तीनो लाइटहॉउस के रखवालो का नाम हवा में गूँजता रहता था।

तीनो को एलियन उठा कर ले गए या वो समुद्र में गिर गए,

eilean mor lighthouse mystery

इस बात का पता नहीं लगा और 100 साल बाद भी ये एक पहेली है कि वो तीनो कहाँ गायब हो गए?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *