ताश के जादुई पत्ते पार्ट 1 – लेखक पवन सिकरवार

    अधयाय  – 1 गिरा हुआ ताश का इक्का 


शाम का समय, चिडियो की चहचाहट फैली हुई है छोटे पक्षी अपने घोसलो की तरफ बढ़ रहे है।  आसमान बिलकुल साफ़ दिखाई दे रहा है। स्कूल की घंटी बज चुकी है। और स्कूल की बगल में ईमान चला जा रहा था तभी एक आवाज आती है।  

ओये ईमान! 

ईमान अपना नाम सुनकर चुपचाप खड़ा हो जाता है।

बेब्कुफ़ ईमान मेरा जबाब दो! एक लड़के ने ईमान के गाल पर थप्पड़ मारते हुए कहा। 

कँहा खोया रहता है इसी वजह से तू हमारे लिए सामान भी सही से खरीद नहीं पाता है।  मेने कहा था ना की हमारे लिए आइसक्रीम और कॉफी लानी है और तू सिर्फ आइसक्रीम उठा लाया! वह लड़का लात मारते हुए कहता है।  

इस हरामी को अभी मज़ा सिखाते है! इतना कहकर दूसरे लड़के ने गर्म कॉफी ईमान के ऊपर फेंक दी। 

सभी वंहा खड़े लड़के ईमान को लाते मरने लगते है और उसे पीट कर चले जाते है। 

तो दोस्तों यही हो रहा है 17 सालो से मेरे साथ और मेरा नाम है ईमान। मै ना ही अच्छा दिखता हूँ और ना ही मेरी लम्बाई ज्यादा है मै शरीर से भी कमजोर हूँ। क्लास के बच्चे बस मुझे पीटते है। लोग मेरा मजाक बनाते है इसलिए मेरे मन में एक सवाल जरूर आता है की मेरी सभी इच्छाएं खत्म हो गई है तो मै जिन्दा क्यों हूँ?  लेकिन तभी मेरी नजर एक लड़की पर जाती है जिसका नाम वार्निका है वह हमारी क्लास की सबसे खूबसूरत लड़की है शायद पुरे स्कूल की सबसे खूबसूरत लड़की है। काफी लड़को ने उसका दिल जितने की कोशिश की लेकिन कोई भी उसका बॉयफ्रेंड नहीं बन पाया। इसलिए मै खुश था की कम से कम अगर वह मुझे नहीं पसंद करती तो वह किसी को भी नहीं करती है। 

cards game

लेकिन एक दिन वह लड़की किसी से प्यार करने लगी आह मै नफरत करता हु उस लड़के से कितने लोग होते है ऐसी किस्मत वाले लेकिन शायद मेरी आशाएं खत्म हो चुकी थी।  

मुझे आज भी याद है वो दिन जब मै स्कूल गैलरी में उस लड़के से मिला था।  वो मेरे बगल से निकला था और मै देखता रह गया था। लेकिन एक चीज़ अजीब थी उसके फ़ोन में ताश का एक पत्ता पीछे की तरफ लगा हुआ था। लेकिन  मै बस इतना चाहता था की काश में दुबारा से अपनी जिंदगी जी स्कू वो भी अपनी मर्जी से। लेकिन भगवान ने मेरी सुन ली और मुझे मौका मिला मेरी जिंदगी को वापस जीने के लिए 

ये उस दिन से शुरू हुआ जब वह लड़का नए स्कूल से हमारे स्कूल और वो भी हमारे ही क्लास में पढ़ने आया था।  

ओह माय गॉड, यह तो बहुत हैंडसम है, यह किस स्कूल से आया है? मुझे लगता है मेने इस लड़के को किसी टीवी सीरियल में देखा होगा! ऐसी बाटे मेरी क्लास में सभी लड़किया और लड़के कर रहे थे उस लड़के को देखकर।  

हेलो मेरा नाम ताइवान है यह मेरा पहला दिन है इस स्कूल में।  मेरे लिए यंहा सब कुछ नया है लेकिन मै कोशिश करूंगा की आप लोगो से जल्दी घुल मिल जाऊ! उस लड़के ने अपना परिचय पूरी क्लास को देते हुए कहा।  

 वह फिर आकर मेरे पास ही बैठ गया! 

क्यों आखिर क्यों यह सिर्फ मेरे पास ही बैठा है आकर! यह मुझे और महसूस करा रहा है की मै कितना भद्दा दिखता हूँ! ईमान ने चिढ़ते हुए मन में सोचा।  

इस लड़के की आंखे एकदम चमकदार है। त्वचा भी एकदम अच्छी है।  बाल भी अच्छे है! 

तुम मेरी तरफ ऐसे क्यों देख रहे हो? ताइवान ने ईमान की तरफ देखते हुए बोला।  

cards game

कुछ नहीं, कुछ भी तो नहीं।  सुनो तुमने पिछले जन्म में ऐसा क्या किया था जो तुम ऐसे हो? ईमान ने एकदम से चिढ़ते हुए कहा।  

क्या! ताइवान ये सुनकर एकदम से चौंक जाता है।  

ओये ईमान में जो भी दे रहा हूँ उसे पकड़ आकर! उन्ही पीटने वाले लड़को ने ईमान को बुला लिया। वह हमेशा की तरह ईमान को छेड़ने लगे।  

और सभी बच्चो ने ताइवान को घेर लिया।  

तुमसे मिलकर अच्छा लगा, कितना बदकिस्मती है की तुम  ईमान के साथ बैठे, तुम कौनसा खेल खेलते हो? तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है? सभी लोग ताइवान से सवाल पूछ रहे थे।  

ताइवान बास्केटबॉल में बहुत अच्छा शायद इतना अच्छा की कोई भी ताइवान से अच्छा नहीं खेल सकता था यही नहीं। मै बस उससे देखकर चिढ़ रहा था क्योकि मै तो किसी भी खेल में अच्छा नहीं था।  वह पढाई में भी सबसे अच्छा था लेकिन मुझे अजीब लगा कोई इंसान इतना अच्छा परफेक्ट कैसे हो सकता था मुझे बस यही बात हजम नहीं हो रही थी। उसके पास सबकुछ था दोस्त, मेरी वार्निका भी उससे दोस्ती कर चुकी थी।  शायद मुझे खुश होना चाहिए वार्निका की ख़ुशी देखकर।  

मै यह देखकर भाग गया और एक गली में जाकर बैठ गया फिर उन्ही लड़को ने मुझे पीटा! मै भागकर अपनी क्लास में गया मेरी आँखों में आँशु थे।  तभी मेरी नजर ताइवान पर गई जो क्लास में ही अकेले बैठा हुआ था। वह अपने फ़ोन में कुछ कर रहा था।   

तुम यंहा क्या कर रहे हो? ईमान ने उससे पूछा।  

गेम खेल रहा हूँ! ताइवान ने जबाब दिया। 

तुम्हारे लिए अच्छा है! ईमान इतना कहकर जाने लगता है।  

ईमान रुको तुम्हारा चेहरा! तुम्हे किसी ने मारा? तुम्हारे मुंह से खून आ रहा है! ताइवान ने ईमान के चेहरे को देखते हुए कहा। 

cards game

मुझे अकेला छोड़ दो! ईमान ने ताइवान का हाँथ झटकते हुए कहा।  

इतना कहकर ईमान रोने लगता है मुझे माफ़ करदो तुमने कुछ गलत नहीं किया है मै बस तुमसे किलसता हूँ क्योकि तुम खूबसूरत लड़के हो इसलिए मै बस दुबारा पैदा होना चाहता हु जैसे तुम हो वैसे ही। 

सुनो क्या तुम दुबारा से पैदा होना चाहते हो? नहीं! अगर तुम सब कुछ बदल सकते तो क्या तुम बदलते? ताइवान ने मुस्कराते हुए पूछ।  

ये केसा सवाल है? क्या तुम मजाक कर रहे हो? ईमान ने चिढ़ते हुए कहा।  

लेकिन तुम कर सकते हो? तुम सब कुछ बदल सकते हो जैसा तुम चाहते हो! ताइवान का चेहरा एकदम शांत था।  

क्या! ईमान चौंक चूका था।  

क्या तुम एक गेम खेलोगे? 

एक गेम? तुम किस बारे में बात कर रहे हो? 

क्या तुम्हे ये गलत और अनुचित नहीं लगता की जो अच्छा खेल सकता है वो स्कूल में जल्दी दोस्त बना लेता है। जो खूबसूरत है तो लोग उससे दोस्ती करना चाहते है और अगर तुम बेकार दीखते हो तो लोग तुमसे बात भी नहीं करते और परेशान करते है।  क्या ये सब गलत नहीं है? क्योकि मुझे भी लगता है ये सब गलत है! ताइवान ने एक गहरी साँस छोड़ते हुए कहा।  

ये कौन है? ये सबसे अलग कैसे सोचता है? ईमान के मन में सवाल उठ रहे थे। 

तो अगर तुम हैंडसम हो जाओ लम्बे हो जाओ ताकतवर हो जाओ।  क्या होगा अगर तुम सबक सीखा सको उन सबको जो तुम्हे परेशान करते है ? या तुम पॉपुलर हो जाओ? या यूँ कहु की तुम दुबारा से पैदा हो वो अपनी मर्जी से? तुम क्या कहोगे की अगर मै कहु की ये तुम आसानी से एक गेम खेलकर कर सकते हो? 

क्या ? क्या यह सब मुमकिन है? ईमान ने ताइवान की तरफ देखते हुए कहा।  

cards game

तुम्हे मुझपर विश्वास करना होगा?  

लेकिन कैसे? 

जैसे ही ताइवान बोलने वाला होता है तभी कोई क्लास का दरवाजा खोलता है। 

वार्निका? ईमान के मुंह से एकदम निकलता है।  

ईमान तुम इनके साथ थे? तुम्हारे चेहरे को क्या हुआ? वार्निका ने एकदम से कहा। 

मुझे विश्वास नहीं हो रहा है की वह मेरा नाम जानती है।  लेकिन इसका मतलब फ़ोन में ताइवान वार्निका से बात कर रहा था और क्लास में वह वार्निका का ही इंतज़ार कर रहा था! ईमान अपने मन में सोचता है।  

तुम लोग क्या बात कर रहे थे? वार्निका ने ताइवान से पूछा। 

कुछ भी नहीं हम बस टाइम पास कर रहे थे! ताइवान ने मुस्कराते हुए जबाब दिया।  

मै जानता था की यह बस मुझसे मजाक कर रहा था। ईमान ने गुस्से में सोचते हुए अपने मन में कहा।  

मुझे अब चलना चाहिए! इतना कहकर ईमान वंहा से भाग लेता है।  

अरे रुको! ताइवान ने आवाज दी। 

क्या मेने उसे नाराज कर दिया? वार्निका ने ताइवान की तरफ देखकर पूछा।  

नहीं तुमने ऐसा कुछ भी नहीं किया है।  

क्या तुम्हे सही में ऐसा लगता है? वार्निका ने पूछा।  

हाँ बिलकुल ! इतना कहते ही ताइवान के फ़ोन पर एक मेसज आता है।  

“तुम्हारा कुत्ता दोस्त तो अपने घर चला गया रोने हाहाहा क्या तुम अपने इस मिशन को यही रोकना चाहते हो? अगर तुम इस मिशन को यही रोकोगे तो तुम्हे नया मिशन मिलयेगा! नए मिशन के लिए कन्फर्म का बटन दबाये।  

क्या हुआ? एक मेसेज आया है? वार्निका ने पूछा।  

हाँ मेरा दोस्त मुझे गेम खेलने के लिए बार बार निमंत्रण दे रहा है। ताइवान ने मेसेज की तरफ देखते हुए कहा।  

ओह ओके ठीक है! वार्निका ने अपनी किताबे उठाते हुए कहा।  

तभी एक मेसेज और आता है 

“क्या तुम मिशन को बदलना चाहते है तो जबाब में हाँ का मेसेज भेजो! 

cards game

ताइवान हाँ का जबाब में मेसेज भेज देता है तभी एक और मेसेज आता है 

“वार्निका को अपनी गर्लफ्रेंड बनाकर जीतो” 

चलो हमे घर चलना चाहिए वार्निका! ताइवान ने मुस्कराते हुए कहा।  

दूसरी तरफ, 

ईमान रास्ते भर सोचता रहता है की मैने सोचा भी कैसे की मै दुबारा से पैदा हो सकता हूँ या इस दुनिया को वापस बदल सकता हूँ वो भी अपने मुताबिक! यही सोचते हुए वह घर पहुँच जाता है। ईमान घर पहुंचकर कपडे उतार कर शीशे के सामने खड़ा हो जाता है।  

मै छोटी लम्बाई का लड़का हु ना ही खूबसूरत हु और कमजोर भी हु यही नहीं मुझे  खेल भी नहीं आता है! ईमान मन में सोच ही रहा होता है तभी उसे बारिश की बूंदा बांदी की आवाजे आती है वह जल्दी से कपड़े पहनकर छत कपड़े जो सूखने के लिए डले हुए थे वह उन कपड़ो को उतार कर निचे लाता है तभी ईमान की माँ घर में नशे की हालत में आती है। 

आप फिर पी कर आई है? ईमान ने अपनी माँ को उठाते हुए कहा।  

बेटा मेरा आज का दिन काफी बुरा गया था! इतना कहकर वह गिर पड़ती है।  

ईमान अपनी माँ को उनके बिस्तर पर लेटा देता है और अपने बिस्तर जमीन में लगा कर सो जाता है। 

अगले दिन, 

सुबह का समय, चारो तरफ स्टूडेंट्स स्कूल में अपनी क्लास की तरफ जा रहे है तभी सीढ़ियों से उतरते वक्त ईमान को वार्निका दिख  जाती है जो दूसरी मंजिल पर जा रही थी शायद उसकी पियानो की क्लास थी।  

ओह हेलो ईमान, वार्निका ने मुस्कराते हुए कहा।  

हेलो वार्निका! ईमान ने अपने हाव भाव छुपाते हुए कहा।  

कल तुम परेशान नजर आ रहे थे? वार्निका ने ईमान के चेहरे की तरफ देखते हुए पूछा क्योकि ईमान के चेहरे पर दवाइया लगी हुई थी।  

cards game

नहीं ऐसा कुछ भी नहीं है! ईमान अपना चेहरे को निचे करके छुपाने की कोशिश कर रहा था।  

तभी एक स्टूडेंट्स की भीड़ की आवाज आती है।  अरे वो अकेला और वो तीन वो तो पक्का मारा जायेगा।  अरे चलो चलो देखते है लड़ाई।  

वार्निका ये आवाज सुनकर तुरंत ही सीढ़ियों से ऊपर की तरफ भागती है।  

ये अकेला लड़का जो तीन लड़को से लड़ रहा है ये कौन हो सकता है? ईमान ने मन में सोचते हुए बोला।  

तभी ईमान एकदम से बोलता है 

“ताइवान” 

cards game

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *