सरस्वती वंदना – Sonika tanwar “svra”

🦢 जय हंसवाहिनी 🦢

🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻

हे! सरस्वती मात,
दो विद्या का वरदान।
खाली पड़े भंडार,
भर दो भीतर ज्ञान।।

श्वेत वस्त्रधारी,
कमल पर विराजती।
मन्द-मन्द मुस्कान,
अधर पर साजती।।

हम सब अज्ञानी,
उपकार करो माता।
तुम ही मस्तिष्क में,
बुद्धि विवेक प्रदाता।।

हे! हंसवाहिनी,
भय – भ्रम भगाओ।
तुम्हीं हो सहारा,
सत्य राह दिखाओ।।

नित्य करूँ प्रार्थना,
अज्ञानता दूर करो मां।
हम हैं शरण में,
हमें दुलार करो मां।।

स्वरचित
सोनिका तंवर ‘ स्वरा ‘ ( हिसार , हरियाणा)

One Reply to “सरस्वती वंदना – Sonika tanwar “svra””

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *